बटेश्वर नाथ मंदिर

Short information

  • Location: Agra District, Bah Tehsil, Bateshwar, Uttar Pradesh 283104
  • Temple Open and Closing Timings: 04:00 am to 09:00 pm During Shravan (August-September - Monday Only): 12:00 am to 09:00 pm.
  • Nearest Railway Station : Shikohabad Junction Railway Station Distance of 12 km.
  • Nearest Airport: Pandit Deen Dayal Upadhyay Airport, Agra at a distance of nearly 88.2 kilometres from Bateshwar.
  • Best Time ot Visit: October to March is the best time to visit and (During Shravan Months).
  • District: Agra
  • Important festival: Maha Shivaratri.
  • Primary deity: Shiva.
  • Did you know: Bateshwar is known for the 101 Lord Shiv temples.
    Atal Bihari Vajpayee grandfather, Pandit Shyam Lal Vajpayee, had migrated to Morena, Gwalior from his ancestral village of Bateshwar, Uttar Pradesh.

बटेश्वर नाथ मंदिर बहुत प्राचीन मंदिर है। बटेश्वर यमुना नदी के तट पर आगरा (उत्तर प्रदेश) से 70 किमी की दूरी पर स्थित है। बटेश्वर एक समृद्ध इतिहास के साथ सबसे पुराने गांवों में से एक है। यह भारत में महत्वपूर्ण आध्यात्मिक और सांस्कृतिक केंद्र में से एक है। बटेश्वर स्थल यमुना और शौरीपुर के तट पर स्थित 101 शिव मंदिरों के लिए जाना जाता है। हिंदुओं के भगवान शिव के सम्मान में यमुना नदी तट पर स्थित बटेश्वर धाम की तीर्थयात्रा करते हैं। कुछ मंदिरों की दीवारों और छत में आज भी सुन्दर आकृतियां बनी हुई है। 22वें तीर्थंकर प्रभु नेमिनाथ शौरीपुर में पैदा हुआ थे। इस क्षेत्र के रूप में अच्छी तरह से जैन पर्यटकों को आकर्षित करती है।

यमुना के तट पर एक पंक्ति में 101 मंदिर स्थित हैं जिनको राजा बदन सिंह भदौरिया द्वारा बनाया गया था। राजा बदन सिंह ने यमुना नदी के प्रवाह को जो कभी पश्चिम से पूर्व कि ओर था उसको बदल कर पूर्व से पश्चिम की ओर अर्थात् बटेश्वर की तरफ कर दिया गया था। इन मंदिरों को यमुना नदी के प्रवाह से बचाने के लिए एक बांध का निर्माण भी राजा बदन सिंह भदौरिया द्वारा किया गया था। बटेश्वर नाथ मंदिर का रामायण, महाभारत, और मत्स्य पुराण के पवित्र ग्रंथों में इसके उल्लेख मिलता है।

बटेश्वर मंदिर में सावन का महीना बहुत ही अहम है। सावन के महीने में यह मेला के आयोजन किया जाता है।  भक्त बटेश्वर बाबा पर गंगा जल अप्रीत करने के लिए बटेश्वर से लगभग 160 किलोमीटर दूर से गंगा जल भक्त अपनी कावर में लेकर आते है। बटेश्वर धाम में सावन महीनें के प्रत्येक सोमवार को ही कावर का जल अप्रीत किया जाता है। इस दौरान हजारों भक्त कावर लेकर बटेश्वर मंदिर में आते है। शिवरात्रि बटेश्वर मंदिर का प्रमुख त्योहार है।

Read in English...

बटेश्वर नाथ मंदिर फोटो गैलरी

बटेश्वर नाथ मंदिर वीडियो गैलरी

मानचित्र में बटेश्वर नाथ मंदिर

वेब के आसपास से

    We use cookies in this webiste to support its technical features, analyze its performance and enhance your user experience. To find out more please read our privacy policy.